ग्राउंड में इमोशनल सीन, 87 साल की ‘मां’ ने कोहली और शर्मा को चूम कर दिया जीत का आशीर्वाद, video देखें





आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 (ICC Cricket World Cup 2019) में मंगलवार को भारत ने बांग्लादेश को 28 रनों से मात देकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। भारत ने सातवीं बार वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में जगह बना ली। भारत ने इससे पहले 1983, 1987, 1996, 2003,2011 व 2015 में जगह बनाई थी

जीत के बाद टीम इंडिया (Team India) के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) बर्मिंघम के एजबेस्टन स्टेडियम में भारत को सपोर्ट करने आई 87 साल की बुजुर्ग महिला प्रशंसक चारुलता पटेल से मिले और उनसे बातचीत भी की। विराट ही नहीं, बल्कि बांग्लादेश के खिलाफ ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे टीम इंडिया के स्टार ओपनर रोहित शर्मा भी इस बुजुर्ग महिला प्रशंसक से मिले। जीत के बाद 87 साल की चारुलता पटेल ने विराट कोहली और रोहित शर्मा (Rohit Sharma) दोनों को चूम लिया। टीम इंडिया की यह खास फैन व्हील चेयर पर टीम इंडिया को सपोर्ट करने बर्मिंघम के एजबेस्टन आई थीं। बता दें कि यह बुजुर्ग महिला प्रशंसक भारतीय क्रिकेट टीम को सपोर्ट कर रही थीं। वह जिस तरह टीम इंडिया का हौसला बढ़ा रही थीं, उसने सभी को मुरीद बना लिया।

            Video देखें

 

कोहली ने उनसे मुलाकात के बाद ट्वीट करते हुए लिखा, ‘हमारे सभी प्रशंसकों के प्यार और समर्थन के लिए और विशेष रूप से चारुलता पटेल जी का धन्यवाद देना चाहूंगा। वह 87 की हैं और शायद सबसे ज्यादा भावुक और समर्पित प्रशंसकों में से एक हैं। ‘ बता दे विराट ही नहीं, बल्कि बांग्लादेश के खिलाफ ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे टीम इंडिया के स्टार ओपनर रोहित शर्मा भी इस बुजुर्ग महिला प्रशंसक से मिले।  

कौन हैं चारुलता पटेल?

मैच के बाद चारुलता पटेल ने बताया कि ‘मैं भारत में नहीं बल्कि तंजानिया में पैदा हुई. लेकिन मेरे बच्चे सरे काउंटी से खेले हैं, इसलिए मुझे क्रिकेट पसंद है. लेकिन मेरे माता-पिता भारत से हैं, इसलिए मुझे भारत से बहुत ज्यादा लगाव है. मुझे लगता है कि इस बार भारत वर्ल्ड कप जीतेगा. मैं 1983 में जब भारत वर्ल्ड चैम्पियन बना था, तब भी इंग्लैंड में ही थी. मैं शुरु में अफ्रीका में थी और तब से क्रिकेट देख रही हूं. काफी सालों से क्रिकेट पसंद है. जब नौकरी करती थी तो टीवी पर क्रिकेट देखती थी, लेकिन रिटायरमेंट के बाद जब भी मौका मिलता है तो वे स्टेडियम आकर मैच देखती हूं.’

Gurdwara Talahn Sahib
error: Content is protected !!